India Govts Chief Scientific Advisor Says-चिंता करने से शरीर की संक्रमण से लड़ने की ताकत कम होती है

India-Govts-Chief-Scientific-Advisor-Says-चिंता-करने-से -शरीर-की-संक्रमण-से-लड़ने-की -ताकत-कम-होती-है

एएबी समाचार @
भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय ने कोविड-19 के हल्के लक्षण दिखने पर कोविड-19 का घरेलू देखभाल करने के तरीकों की जानकारी को एकत्र कर बेहद आसानी से समझ में आने वाला वीडियो जारी किया है।  वीडियो के जरिए लोगों को सलाह दी गई है कि चिंता  करने से लड़ने   शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है।

वीडियो के जरिए लोगों को यह भी बताया गया है कि यदि किसी व्यक्ति में कोविड -19 का लक्षण दिखता है तो वह घबराएं नहीं, क्योंकि अधिकांश लोग खुद देखभाल कर घर पर अपने संक्रमण को ठीक कर सकते हैं। इसके तहत बीमारी के सामान्य लक्षणों को सूचीबद्ध किया गया है और बताता है कि पहली बार लक्षण मिलने पर क्या करना चाहिए। पहले संकेत पर, संक्रमित व्यक्ति को घर में आइसोलेट करना चाहिए। घरेलू देखभाल के उपायों का पालन करना शुरू करना चाहिए। वीडियो लोगों को चिंता नहीं करने के लिए कहता है।  क्योंकि चिंता करने पर संक्रमण से लड़ने के लिए शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है।

यह भी पढ़ें : PM-WANI-PROJECT-अर्जुन-ब्रॉड-बैंड-लगाएगा-हॉटस्पॉट

यह बेहद जरूरी है कि ऐसे लक्षण वाले लोग घर पर आइसोलेट रहे। उन्हें ज्यादा से ज्यादा आराम करना और हाइड्रेटेड (खूब पानी पीना) रखना महत्वपूर्ण है और नियमित रूप से रोगी के रक्त ऑक्सीजन के स्तर और तापमान की निगरानी करें और लगातार बुखार जारी रहने पर या ऑक्सीजन का स्तर एसपीओ-2 लेवल 92 फीसदी से कम हो तो डॉक्टर से परामर्श करें। यह वीडियो उन तरीकों को भी बताता है जिन्हें ऑक्सीजन का स्तर 94 फीसदी कम होने पर किया जाना चाहिए। जिससे कि फेफड़े में सुधार हो और ऑक्सजीन का स्तर बढ़ सके। वीडियो इसके अलावा रोगी के कमरे के दरवाजे और खिड़कियां खुली रखने के महत्व को भी बताता है। ताकि कमरे को अच्छी तरह से हवादार बनाया जा सके।

वायरस के प्रसार को कम करने के लिए टीकाकरण होने के महत्व को भी वीडियो रेखांकित करता है। वीडियो यह भी याद दिलाता है कि टीका लगाए जाने के बाद भी,  कोविड-19 के उचित व्यवहार का पालन करना आवश्यक है।